विचारों की शक्ति क्या है? Power Of Thoughts In Hindi।

दोस्तों आज हम विचारों की शक्ति (Power Of Thoughts) के बारे में बात करने वाले है, जो कि वाकई कमाल की शक्ति है।

Power Of Thoughts – विचारों की शक्ति

विचार शक्ति अन्य शक्तियों की तरह महसूस तो नहीं कि जा सकती पर अपने दिमाग द्वारा समझी जरूर जा सकती है।

दोस्तों Brian Tracy जो कि एक बहुत फेमस लेखक है, वह कहते है कि ,

आप आपकी सोच को बदल दीजिए आपकी जिंदगी बदल जाएगी।

और आप वह बन सकते जो आप हमेशा से बनना चाहते हो।

चाहे आप एक आर्टिस्ट बनना चाहते हो या आप एक डांसर बनना हो या आप एक सिंगर बनना हो या फिर आप एक सक्सेसफुल बिजनेसमैन बन चाहते हो, चाहे आपको जो कुछ भी बनना हो आप बन सकते हो क्योंकि जो आप सोच सकते हो वह आप कर सकते हो।

आप आपकी सोच शक्ति (ThoughtPower) से कुछ भी हासिल कर सकते हो, आप आज जो कुछ भी हो आपकी सोच की वजह से ही हो।

Types Of Thoughts – विचार कितने प्रकार के होते है ?

विचार दो तरह के होते हैं एक होते हैं, एक होते है पॉजिटिव सकारात्मक और दूसरे होते हैं नेगेटिव नकारात्मक विचार।

जो व्यक्ति नकारात्मक या Negative Attitude वाला होता है वह हमेशा नकारात्मक चीजों पर ध्यान देता है,

जैसे कि वह हमेशा कहता है कि मैं यह नहीं कर सकता मैं वो नहीं कर सकता और हमेशा दूसरे लोगों में सिर्फ बुराइयां ही ढूंढता है, हमेशा Depressed और Confused ही रहता है, और वह हमेशा समस्याओं पर ही ध्यान देता है।

पर जिस इंसान में Positive Attitude होता है वह हमेशा कहता है मैं कुछ भी कर सकता हूं I am born to win वह समस्या पर नहीं समाधान पर फोकस करता है,

सकारात्मक (Positive) लोग दूसरे लोगों में भी हमेशा अच्छा ही देखते है, और हमेशा Motivated रहते हैं,

सकारात्मक लोगों के साथ जो लोग रहते हैं उनको भी एक अलग ही सकारात्मक ऊर्जा मिलती है,

ओर जो लोग नकारात्मक(Negative) लोगों के साथ रहते हैं उनकी ऊर्जा कम होने लगती है और ऐसे लोगों के साथ कोई रहना पसंद बिल्कुल नहीं करता।

अगर आप भी ऐसे कुछ लोगों के ग्रुप में हो तो प्लीज उस ग्रुप को छोड़ दो या फिर अपने उन दोस्तों को बदलने का प्रयास करो।

विचारों की ताकत – (Power of Thought Hindi)

दोस्तों हम सभी लोगों की जिंदगी में एक ऐसा वक्त आता है जब हम ना चाहते हुए भी Negativity का शिकार हो जाते हैं,

और हम बार-बार उस Negativity से बाहर आने की कोशिश करते हैं पर हम चाह कर भी Negativity को दूर नहीं कर पाते और हम बहुत ही depressed और demotivated हो जाते हैं जिससे कि हमारी पर्सनल लाइफ पर भी बहुत ज्यादा इफेक्ट होता है,

पर इससे बचने के लिए आपको आपके दिमाग के mental cowebs को क्लियर करना होगा, आपके दिमाग में लगे हुए जालो को दूर करना होगा,

आपने आपके दिमाग में कुछ गलत Patterns बना रखे हैं जो आपको आगे बढ़ने नहीं देते, आपने सिर्फ कुछ नकारात्मक विचार बना रखे हैं।

जिन्हे आप धीरे-धीरे अपने दिमाग से निकाल सकते हैं पर एक नकारात्मक विचार बहुत ही शक्तिशाली होता है और वह आपके सकारात्मक विचार को भी काम करने नहीं देता। तो अब क्या करना चाहिए ?

आप आपके पॉजिटिव मेंटल एटीट्यूड की मदद से नेगेटिविटी को बिल्कुल खत्म कर सकते हो।

विचार शक्ति को कैसे बढ़ाए – How To Improve Power Of Thoughts?

अब मैं आपको कुछ ऐसे Tips दूंगा जिनकी मदद से आप आपकी Negativity को दूर कर सकते हो।

1. आप सकारात्मक लोगों के साथ रहना शुरू कीजिए।

आप सबसे पहले और अभी नकारात्मक लोगों का साथ छोड़ दीजिए जो खुद भी आगे नहीं बढ़ रहे और आपको भी आगे बढ़ने नहीं दे रहे।

जो आपको हमेशा Demotivate करते रहते हैं ऐसे लोगों का साथ अभी छोड़ दीजिए, क्योंकि हम जिस तरह के लोगों के साथ रहते हैं हम उनके जैसे ही बनने लगते हैं।

एक रिसर्च में पाया गया है कि आप जिन 5 लोगों के साथ रहते हो आप उनके जैसे ही बन जाते हो।

आप पॉजिटिव लोगों के बीच में रहना शुरू कर दीजिए, आप आपसे अच्छे लोगों के ग्रुप में रहना शुरू कर दीजिए क्योंकि आप उनसे बहुत कुछ सीख सकोगे और अपने जीवन में सुधार कर सकोगे ।

इसीलिए जीवन में अच्छे लोगों का साथ होना बहुत आवश्यक है।

2. आप आपके दिन की शुरुआत सकारात्मकता के साथ कीजिए। Start Your Day With Positivity.

अपने दिन की शुरुआत पॉजिटिविटी के साथ करें जिससे कि दिन भर आप पॉजिटिव रह सकोगी।

तो सुबह सुबह अच्छे Thoughts पढ़िए अच्छी किताबें पढ़िए, जो आपको दिनभर मोटिवेटेड रखेगी।

अगर आपका दिन सुबह सुबह ही खराब हो जाता है तो आप सबसे पहले यही बात कहते हो कि आज तो मेरा पूरा दिन ही खराब हो गया इसीलिए अपने दिन की एक पॉजिटिव विचार के साथ और एक नई उम्मीद के साथ शुरुआत कीजिए ताकि आप दिनभर पॉजिटिव रह सके।

दुनिया के सफल व्यक्तियों में एक बात आम होती है कि वह सब सुबह जल्दी उठकर किताबें पढ़ते हैं,

बिल गेट्स जो कि दुनिया के सबसे अमीर लोगों में से एक है वह 1 साल में 50 किताबें पढ़ते हैं तो फिर आप समझ ही सकते हैं की किताबों का हमारे जीवन पर कितना महत्व है।जिनसे आप बहुत कुछ सीख सकोगे।

यह जरूर पढ़े – Positive Thinking In Hindi – सकारात्मक सोच कैसे बनाये

3. अपने नकारात्मक विचारों को सकारात्मक विचारों से बदल दो।

आपके दिमाग में जो नकारात्मक विचार है वही आपकी Negativity का कारण है,

जैसे कि दिन भर आप अपने आप से जो बातें करते हो जैसे आप अपने आप से कहते हो कि मैं अच्छा नहीं हूं, में अपने सपनों को पूरा नहीं कर सकता, मैं हर काम को खराब कर देता हूं, तो आपको अपने इन सभी नकारात्मक विचारों को बदलना होगा जो आपको आगे बढ़ने नहीं दे रहे आपको इन्हें सकारात्मक विचारों से बदलना होगा ।

इसके पीछे एक आसान सा logic है क्योंकि जैसा आप सोचते(Power Of Thoughts) हो वैसे ही आप बन जाते हो, तो आप अपने आप से कहिए मैं बहुत अच्छा हूं, मैं कुछ भी कर सकता हूं,में अपने सपनों को पूरा जरूर करूंगा ।

एक छोटा सा गलत विचार भीआपके ऊपर कितना प्रभाव डाल सकता है आप यह भी नहीं जानते इसीलिए जितना हो सके उतना पॉजिटिव सोचिए अच्छे विचारों को सोचिए।

आप अपने विचारों को एक सही दिशा दीजिए और दिन रात सिर्फ उसी चीज को सोचिए जो आप हासिल करना चाहते हो,

क्योंकि लॉ ऑफ अट्रैक्शन(Law Of Attraction) कहता है कि आप जिस चीज को हासिल करना चाहते हो उसके बारे में सोचिए उसे Visualize कीजिए जिससे कि आप उसे हासिल करने का एक तरीका ढूंढ पाओगे।

आप अपने आप को कंट्रोल कीजिए और बस अच्छी चीजों पर ही फोकस कीजिए।

4. समस्याओं पर ध्यान मत दीजिए उनके समाधान को सोचिए । Focus On Solutions Not Problem.

आपकी जिंदगी में जो भी समस्याएं आती है आपको उन समस्याओं के बारे में ज्यादा नहीं सोचना चाहिए,

आपको यह सोचना चाहिए कि मैं कैसे इस समस्या को हल कर सकता हूं, क्योंकि जब हम सिर्फ समस्या को देखते हैं तब हम सिर्फ उसी के बारे में सोचते हैं,

तो हम चिंतित होने लगते हैं, इसकी जगह हमें समाधान पर फोकस करना चाहिए कि मैं इस समस्या का समाधान कैसे करूंगा,

आपको थोड़ा सा अपना सोचने का नजरिया बदलना पड़ेगा

“समस्याएं तो है सब के साथ बस नजरिए की है बात”

समस्या हर इंसान के साथ है, पर कुछ लोग समस्याओं को अवसर की तरह देखते है, वो सोचते है कि में इस समस्या से क्या सीख सकता हूं,

आपना थोड़ा सा नजरिया बदलिए फिर देखिए आपकी जिंदगी कितनी आसान हो जाती है।

दोस्तों एक सफल और असफल व्यक्ति के बीच सिर्फ और सिर्फ नजरिए का ही फर्क है।

जिंदगी एक खेल है आपको भी इसे खिलाड़ी की तरह ही खेलना होगा।

5. रोज एक्सरसाइज कीजिए।  Excercise Daily.

आप रोज एक्सरसाइज कीजिए अच्छा खाना खाइए और अच्छी नींद लीजिए क्योंकि एक स्वस्थ शरीर हर समस्या से लड़ने में हमारी मदद करता है, हमें Health को कभी भूलना नहीं चाहिए।

Health Is Wealth.

हमे Mentally prepare तो होना ही है, पर उसके साथ Physically prepare होना भी जरूरी है,

हम अपने दिमाग को तो बहुत अच्छे से तैयार करना ही हैं पर अगर हम अपने शरीर पर ही ध्यान नहीं देंगे और अगर हमारे शरीर ने ही हमारा साथ नहीं दिया तो हम क्या कर सकते हैं इसीलिए अपने शरीर का भी ख्याल रखिए।

अच्छी diet लीजिए, रोज excercise कीजिए, ओर 7-8 घंटे की नींद लीजिए, जिससे कि आपका शरीर कई सारे रोगों से बचा रहेगा।

Conclusion – Power Of Thoughts (विचार शक्ति)

  • आप सकारात्मक लोगों के साथ रहना शुरू कीजिए।
  • आप आपके दिन की शुरुआत सकारात्मकता के साथ कीजिए। Start Your Day With Positivity.
  • अपने नकारात्मक विचारों को सकारात्मक विचारों से बदल दो।
  • समस्याओं पर ध्यान मत दीजिए उनके समाधान को सोचिए Focus On Solutions Not Problem.
  • रोज एक्सरसाइज कीजिए।

इसलिए Power Of Thoughts (विचार शक्ति) का अपने जीवन में इस्तेमाल कीजिये, और अपने जीवन को और भी आसान बनाइये।

Spread the love

Leave a Comment