हर वक़्त खुश रहने के 5 तरीके – Humesha Khush Kaise Rahe(Happiness)

0
48
Humesha Khush Kaise Rahe

Humesha Khush Kaise Rahe

आज के इस संसार में जहां हर तरफ गमो के बादल छाए हुए है, उसमे हर पल को खुशी के साथ जीना अत्यंत मुश्किल है, पर नमुंकिन तो नहीं है।

खुश रहने से यह मतलब नहीं है कि आप बाहर से कितने खुश हैं, खुशी हमें अंदर से मिलनी चाहिए।

खुशियां हमें साफ वातावरण से मिलती है, अच्छे दोस्तों के साथ बैठने से मिलती है, सुखी परिवार से मिलती है, हमें अपने व्यवहार से मिलती है।

इस जिंदगी के हर एक पल को खुशी के साथ जीना ही हमारा उद्देश्य होना चाहिए।

एक व्यक्ति को सुख में ना तो ज्यादा सुखी होना चाहिए, ओर ना ही दुख में ज्यादा दुखी होना चाहिए।

अगर आप भी खुश रहना चाहते हैं तो सकारात्मकता से इन 5 टिप्स को अपने जीवन में उतारें।

हर वक़्त खुश रहने के 5 तरीके – Humesha Khush Rehne Ke 5 Tarike

#1. हर दिन जीवन की जांच कीजिए

आज के गतिशील जीवन में छोटी-छोटी चीजों, छोटी-छोटी बातों में खुशियां ढूंढे, क्यूंकि अकसर हमे कुछ छोटी छोटी बातें बोहत खुशियां दे जाती है, जैसे अपने किसी राह चलते व्यक्ति की मदद करी हो, आप छोटे छोटे बच्चों के साथ अपना समय व्यतीत करो, अपने परिवार को अपना समय दो, अपने माता पिता के साथ समय व्यतीत करो, ये छोटी छोटी चीजें आपके जीवन को खुशहाल बना देगी।

अगर आपके जीवन में कोई व्यक्ति आपकी किसी प्रकार निंदा, या आपके साथ कोई बुरा व्यवहार करता है तो उस घटना के बारे में दिन भर मत सोचिए, आप उस घटना से पूरे दिन उदास रहेंगे, उस घटना को भूल कर, या उससे कुछ सीख कर, खुश रहने के तरीके ढूंढे। फिर देखिए कि आप कल से आज ज्यादा खुश रहने लगेंगे।

#2. सोच (Thinking)

आपकी खुशियां आपकी सोच पर निर्भर करती है, की आप किस तरह से सोचते हो, आप परिस्थितियों को किस तरह से देखते हो।

ज्यादातर लोगों में देखा गया है कि जो लोग हमेशा नेगेटिव (नकारात्मक) रहते हैं, वे कभी खुश नहीं रह पाते हैं।

खुशी हमारी सोच पर भी आधारित रहती है, कि हम दूसरे के प्रति किस तरह का व्यवहार कर रहे हैं।

नकारात्मक लोग से कोई भी व्यक्ति बात करना पसंद नहीं करता है। किंतु सकारात्मक व्यक्ति से हर व्यक्ति सलाह लेता है और उनकी इज्जत करता है। सकारात्मक व्यक्ति हमेशा दूसरे की खुशी में खुश रहता है।

इसलिए अपनी सोच को सकारात्मक बनाइए, ओर अगर कोई आपसे सलाह मांगे तो उन्हे आगे बढ़ने के लिए प्रेरित कीजिए।

यह जरूर पढ़े –

#3. खुशी के महत्व (Importance Of Happiness)

खुशी के भी कहीं अलग महत्व होते हैं, छोटे से पल की खुशी को हम खुशी नहीं कह सकते वह शायद हमारा उस थोड़े से समय का उत्साह होता है।

जैसे- हमें कोई खाने की वस्तु अच्छी लगती हो और उसी वस्तु को हम खा रहे हैैं तो हमें थोड़ा अच्छा लगता है पर हम उसे खुशी नहीं कह सकते।

असल खुशी में तो हमें हमारे चारों तरफ आनंद ही आनंद मिलता है और यही जीवन में खुशी का राज है।

कभी भी जीवन में वस्तुओं में अपनी खुशियां मत ढूंढिए, जिसे की नई Motorcycle, नई कार, इन चीजों में कभी अपनी खुशियां मत ढूंढिए क्यूंकि ये खुशियां सिर्फ कुछ ही वक्त की होती है।

#4. रिश्ते (Relations)

असली खुशी अपने परिवार और अपने दोस्तों के साथ ही मिलती है, परिवार में साथ मिलकर रहने से खुशियां डबल हो जाती है, त्योहारों में रोनक आ जाती है, यह बात तो आप भी मानते होंगे की अगर हम अकेले हैं और हमारे साथ हमारे दोस्त हो तो हमें एक अलग ही प्रकार की खुशी मिलती है, एक अलग ही प्रकार का ऊर्जा मिलती है।

इस लिए अपने जीवन में थोड़ा समय अपने अच्छे दोस्तों के लिए भी निकालिए जो आपको जीवन में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करते हो, ओर अपने परिवार के व्यक्तियों और अच्छे रिश्तेदारों के साथ भी समय जरूर व्यतीत करे।

#5. ताजा दिमाग (Mind Fresh)

जब कोई व्यक्ति रोजाना एक ही काम करता है और अपनी दिनचर्या को नहीं बदलता है, तो एक समय पर वह ऊब (bored) जाता है।

अपने काम को लेकर हर दिन नाखुश होता है और लोगों के प्रति बुरा व्यवहार करता है, कुछ दिनों के लिए इस दिनचर्या को बदलने के लिए रोजाना किए जाने वाले कार्य को छोड़कर कहीं परिवार के साथ घूमने या अपने दोस्तों के साथ घूमने के लिए निकल जाइए।

तो आपका माइंड फ्रेश हो जाएगा जिससे वहां पहले की तरह खुश रहेगा, इसलिए हर व्यक्ति को अपने काम से कुछ समय निकालकर घूमने के लिए अवश्य जाना चाहिए।

और अपने कार्य को नए नए तरीके से करने की कोशिश करे जिससे कि आपका उसने interest बना रहेगा, ओर अपने काम के साथ साथ कुछ नया करने कि कोशिश जरूर करे।

यह जरूर पढ़े –

Bonus Tip – Humesha Khush Kaise Rahe

#अकेले रहना सीखिए।

आज की इस दुनिया मे हम इतने खो चुके है, की हम अपने आप को ही भूल चुके है, हम अपने आप के साथ ही समय व्यतीत करना भूल गए है।

हम इस सांसारिक जीवन में खुशियां ढूंढते है, जबकि असली खुशी तो अपने आप में है, ना कि पार्टियों में, जशन में, ना ही महंगी चीजों को खरीदने में, ये आपको सिर्फ पल भर की खुशियां दे सकती है।

अगर आप हमेशा खुश रहना चाहते हो, तो आप अपने आप कह साथ रहना सीखिए, आपने आप में ही अपने खुशियां ढूंढिए, दोस्तों हर एक सफल व्यक्ति एकांत में अपना समस्त जरूर व्यतीत करता है।

तो ये थे कुछ Tips जीवन में हमेशा खुश रहने के लिए(Humesha Khush Kaise Rahe), उम्मीद करते है, ये टिप्स आपके लिए मददगार साबित हुई होगी।

इस Post को शेयर जरुर करे, इस गुम भरी दुनिया में खुशी का प्रचार करना ना भूले।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here