e-RUPI क्या है? जानिए ये क्या काम करता करता है और इसके फायदे क्या है ?

e-RUPI New Digital Currency

ई-रूपी एक डिजिटल पेमेंट का जरिया है, डिजिटल पेमेंट को मजबूत बनाने के उद्देश्य से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2 अगस्त 2021 को ई-रूपी (e-RUPI) की शुरुआत की है। ई-रूपी कैशलैस की जनझट को पुर्णता समाप्त कर देगा। ई-रूपी डिजिटल रूप से काम करता है, व नेट बैंकिंग को सरल बनाता है।

ई-रूपीई-रूपी क्या है (what is e-RUPI)

भारत सरकार द्वारा डिजिटल पेमेंट के क्षेत्र में e-RUPI के रूप में एक नया प्लेटफार्म लांच किया गया है, जिसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2 अगस्त को देश से अवगत करवाया था, ई-रूपी को पूरी तरह से कैशलेस बनाया गया है। यह पूरी तरह से QR Code और SMS पर आधारित ई-वाउचर है, ई-रूपी की डोर भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (NCPI) संभालता है।

इसमें न ही केश का उपयोग होता है, न ही ऑनलाइन पेमेंट की तरह इसका इस्तमाल किया जाता है, ये एक गिफ्ट वाउचर, या कूपन की तरह काम करता है।

ई-रूपी कैसे काम करता है (How does e-RUPI work)-

ई-रूपी ई-वाउचर की तरह काम करता है, वर्तमान समय में इस्तेमाल हो रहे नेट सुविधा, डिजिटल पेमेंट, कार्ड सुविधा, पेमेंट ऐप, और यूपीआई जैसे अन्य भुगतान माध्यमों से इसे पूर्णत अलग बनाया गया है। ये एक गिफ्ट वाउचर के रूप में होता है, विशेष स्थानों पर इसका इस्तेमाल किया जा सकेगा।

इस प्रक्रिया में लाभार्थी की पहचान मोबाइल नंबर के जरिए होगी और सर्विस प्रोवाइडर को बैंक एक वाउचर आवंटित करेगा जो एक विशेष व्यक्ति के नाम पर होगा जो उस शख्स को डिलीवर होगा।

ई-रूपी को इसलिए बनाया गया है की सरकार द्वारा लाभार्थियों को जिस कार्य के लिए सुविधा प्रदान की है, लाभार्थि उसी कार्य के लिए उस राशि का उपयोग कर सके। अन्य कार्यो में नहीं। और साथ ही उस सुविधा का उपयोग लाभार्थियों के अलावा और कोई न कर सके।

उदाहरण – जैसे अगर किसी व्यक्ति को बीज या खाद खरीदने के लिए सरकार द्वारा कोई सुविधा दी गई है तो वो व्यक्ति केवल बीज या खाद खरीदने में ही उस सुविधा का उपयोग कर सकेगा। इसके लिए सरकार उस व्यक्ति को एक विशेष प्रकार का QR Code या SMS प्रदान करती है जो एक वाउचर की तरह होता है और उसी प्रकार का मैच होता हुआ QR Code या SMS खाद, बीज के दुकानदार को भेजा जाता है, जब भी किसान उस QR Code को दुकानदार के QR Code से स्कैन करता है और वो स्कैन मैच होता है तो ही दुकानदार आपको जितने रुपियो का वाउचर होता है उतने का दुकानदार आपको समान दे देता है। अगर आप उस वाउचर का उपयोग दूसरे काम के लिए करते है तो वो वाउचर वहां काम ही नहीं करेगा, यही इस वाउचर की खासियत है और इसी लिए इसे बनाया गया है।

इससे सम्बंधित-

ई-रूपी के क्या फायदे (Benefits of e-RUPI)-

  • ई-रूपी के उपयोग से सरकार द्वारा दी गई सुविधा का लाभ केवल लाभार्थिय ही उठा सकेंगे।
  • ई-रूपी का इस्तेमाल शिशु व माँ वेलफेयर स्कीम, व कई तरह के इलाज, दवाओं व आयुष्मान भारत जैसी स्कीमों में इसका उपयोग किया जा सकता है।
  • जिस कार्य के लिए वाउचर दिया जाएगा वाउचर केवल उसी सेवा के लिए इस्तमाल हो सकेगा।
  • ई-रूपी का किसी ऐप या कोई भी पेमेंट कार्ड के बिना इसका इस्तमाल किया जा सकता है।
  • इसका उपयोग सरकारी व निजी अस्तपाल में आसानी से किया जा सकेगा।
Spread the love

Leave a Comment