डिजिटल इंडिया पर निबंध

0
200
Digital India Essay In Hindi

Digital India Essay in Hindi

आज हम आपको भारत सरकार द्वारा चलाये गए, सबसे प्रसिद्ध कार्यक्रम डिजिटल इंडिया के ऊपर निबंध बताने वाले है, यह निबंध कई परीक्षाओ में पूछा जाता है, इस पोस्ट में हमने आपके लिए Digital India Mission की पूरी जानकारी एकत्रित करी है।

डिजिटल इंडिया पर निबंध – Essay on Digital India in Hindi

डिजिटल इंडिया पर परिचय

भारत को डिजिटल इंडिया में बदलने के लिए इसकी शुरूवात देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने देश के सबसे बड़े उद्योगपति मुकेश अंबानी, टाटा ग्रुप के चेयरमैन साइरस मिस्त्री, विप्रो के चेयरमैन अजीम प्रेमजी, जैसे बड़े उद्योगपति की उपस्थिति में 1 जुलाई 2015 को देश की राजधानी दिल्ली के इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम से की थी।

इस योजना का मुख्य उद्देश्य देश को इंटरनेट के माध्यम से जोड़ना था, देश के प्रत्येक नागरिक को इंटरनेट के माध्यम से हर छोटी बड़ी न्यूज़ मिल सके, इस डिजिटल इंडिया की निगरानी प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में बनी कमेटी करती है।

डिजिटल इंडिया के उद्देश्य

डिजिटल इंडिया भारत सरकार द्वारा चलाई गई एक मुहिम है, जो की देश की जनता को सीधे सरकारी विभागों से जोड़ती है।

डिजिटल इंडिया का यही उद्देश्य है कि भारत के लोगो को और भारत की अर्थव्यवस्था को डिजिटल रूप देना है, भारत में चल रहे सभी छोटे से लेकर बड़े विभागों को डिजिटल रूप देकर उसकी गति को बड़ाना।

प्रत्येक सरकारी सेवाओं को इंटरनेट के माध्यम से लोगो तक पंहुचाना, प्रत्येक गांव में इंटरनेट की सुविधा प्रदान करना, ग्रामीण क्षेत्रों को उच्च गति के इंटरनेट से जोड़ना, बिना कागज के इस्तेमाल से सरकारी योजनाओं को इंटरनेट के माध्यम से प्रत्येक नागरिक तक पंहुचाना ही डिजिटल इंडिया का मुख्य उद्देश्य है।

डिजिटल इंडिया के घटक

डिजीटल इंडिया के मुख्य तीन घटक है-

  1.  डिजिटल आधारभूत ढाँचे का निर्माण करना।
  2. इलेक्ट्रॉनिक रूप से सेवाओं को जनता तक पहुंचाना।
  3. डिजिटल साक्षरता।

डिजिटल भारत के प्रमुख 9 स्तम्भ

#1. ब्रॉडबैंड हाईवे-

ब्रॉडबैंड हाइवेज की योजना के अंतर्गत देश के सभी गांवों को इंटरनेट से जोड़ा जाएगा, जिसके लिए फाइबर ऑप्टिक्स केबल बिछाया जा रहा है।

ऐसा हाईवे जिस पर बिना रुके हर व्यक्ति इंटरनेट की मदद से सुविधाजनक यात्रा कर सकें, इसके लिए देशभर के ढाई लाख पंचायतों को इस योजना से जोड़ा जाएगा, जिसके अंतर्गत हर ग्राम पंचायत को 100 एमबीपीएस की स्पीड से ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी प्रदान कराता है।

#2. मोबाइल कनेक्टिविटी के लिए सार्वभौमिक पहुँच

इस योजना के अंतर्गत देश के लगभग हर ग्रामीण इलाकों में स्मार्ट फोन की सुविधा उपलब्ध कराना है, अभी भी कई सारे ग्रामीण क्षेत्रों में स्मार्ट फोन तो दूर की बात एक नॉर्मल फोन भी कुछ कुछ लोगो के पास देखने को मिलते हैं।

ऐसे में इस योजना के अनुसार देश के 55 हजार गांवों में अगले 5 सालों में मोबाइल संपर्क की सुविधा सुनिश्चित करने के लिए 20 हजार करोड़ के यूनिवर्सल सर्विस ऑब्लिगेशन फंड का गठन किया गया है।

#3. पब्लिक इंटरनेट एक्सेस कार्यक्रम

इस मुहिम के चलते सभी सरकारी विभागों को इन्टरनेट सुविधा से जोड़ा जाएगा, ताकि हर आम आदमी तक इसकी जानकारी पहुंचाई जा सके।

#4. ई-गवर्नेंस – प्रौद्योगिकी के माध्यम से सरकार में सुधार

इस योजना के अंतर्गत हर तरह के आवेदन जैसी सुविधा को ऑनलाइन करना है, जिसमे सभी तरह की डेटाबेस जानकारी को इलेक्ट्रॉनिक्स रूप दिया जायेगा।

जैसे स्कूल प्रमाण पत्र (टीसी), वोटर आईडी, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, सभी तरह के बिलों के भुगतान आदि का उपयोग आप कहीं पर भी आपकी आवश्यकता अनुसार ऑनलाइन कही भी और कभी भी इस्तेमाल कर सकेंगे।

#5. ई-क्रांति – सेवाओं की इलेक्ट्रानिक डिलीवरी

इस योजना के अन्तर्गत ई-एजुकेशन के माध्यम से सभी स्कूल, कॉलेजों को ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी दी जाएगी, सभी स्कूलों कॉलेजों को फ्री वाईफाई सुविधा प्रदान की जाएगी।

सभी प्रकार के कोर्स को ऑनलाइन किया जाएगा, इस मुहिम के द्वारा ई-हेल्थकेयर सुविधा द्वारा ऑनलाइन मेडिकल, ऑनलाइन दवाइयां (मेडिसिन) सप्लाई की जाएगी, मरीजों को ऑनलाइन ट्रीटमेंट मिलेगा, ई-कोर्ट के माध्यम से न्याय के क्षेत्र में जानकारी दी जाएगी।

इसके अलावा ई-पुलिस, इ-जेल, इ-प्रॉसिक्यूशन, एवं किसानो के लिए मंडीभाव, लोन, मोबाइल बैंकिंग जैसी कई सारी सुविधाएं नागरिकों को मिलेगी।

#6. सभी के लिए सूचना

इस योजना के तहत सरकार अपने हर छोटे बड़े फैसले, सभी प्रकार की जानकारी हर व्यक्ति तक अपनी वेबसाइट और सोशल मीडिया द्वारा पहुंचाएगी, इसके लिए आपको ओपन डाटा प्लेटफॉर्म की जानकारी दी जाएगी, इस योजना से हर व्यक्ति को घर बैठे बैठे हर तरह की जानकारी प्राप्त हो जाएगी।

#7. इलेक्ट्रॉनिक्स क्षेत्र में आत्मनिर्भरता

नेट जीरो इंपोर्ट्स” लक्ष्य के तहत इलेक्ट्रॉनिक्स क्षेत्र से जुड़ी हर इलेक्ट्रॉनिक उपकरण का निर्माण हमारे देश में ही किया जाए, जैसे: मोबाइल, टीवी, फ्रिज, एसी, पंखे, कूलर, बल्ब, सेट टॉप बॉक्स एवं मेडिकल इलेक्ट्रॉनिक्स जैसे स्मार्ट एनर्जी मीटर्स, स्मार्ट कार्डस, माइक्रो-एटीएम आदि का निर्माण देश में ही किया जाएगा, ताकि देश में इलेक्ट्रॉनिक्स के मामले में आत्मनिर्भरता हासिल की जा सके।

#8. नौकरियों के लिए आईटी

कौशल विकास के मौजूदा कार्यक्रमों के अनुसार देश में संचार सेवाएं मुहैया कराने वाली कंपनियां ग्रामीण व शहरी कार्यबल को अपनी जरूरतों के मुताबिक प्रशिक्षित करेंगी। गांवों व छोटे शहरों में लोगों को आइटी से जुड़े जॉब्स के लिए प्रशिक्षित किया जाएगा।

#9. अर्ली हार्वेस्ट कार्यक्रम

इस योजना के अंतर्गत डिजिटल इंडिया कार्यक्रमों को आगे बढ़ाने के लिए सरकार द्वारा कुछ नियम बनाए गए हैं, जिसको पूरे देश में लागू किया जाएगा, इसके लिए सर्वप्रथम सूचनाओ के लिए आईटी प्लेटफार्म बनाए जायेंगे, सभी विभागों में बायोमेट्रिक्स अटेंडेंस की सुविधा लागु की जाएगी।

सभी सरकारी जगहों पर वाईफाई की सुविधा प्रदान की जाएगी जैसे स्कूल, कॉलेज, प्लेटफॉम, सरकारी ऑफिस आदि, सरकारी ईमेल की सुविधा दी जाएगी।

मौसम विभाग द्वारा मोबाइल से आपदा की चेतावनी देने के लिए टीम बनायीं जाएगी। सभी स्टूडेंट्स के लिए किताबो को ई-बुक सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। ओर भी इस मुहिम के जरिए कई सारी सुविधाएं दी जाएगी।

डिजीटल इंडिया के लाभ:

इस योजना से हमारे देश को कई लाभ मिलेंगे

  • देश में कागज व फाइल का डाटा इलेक्ट्रॉनिक उपकरण के माध्यम से सुरक्षित हो जाएगा तो डाटा चोरी होने की संभावना खत्म हो जाएगी।
  • डिजिटल इंडिया प्रोजेक्ट के तहत बिलो का भुगतान हम घर बैठे बैठे कर सकेंगे जैसे, बिजली का बिल, मोबाइल का रिचार्ज, टीवी का रिचार्ज, पानी का बिल, हम आसानी से भर सकंगे।
  • इंटरनेट की सुविधा देश की हर खबर, हर व्यक्ति तक आसानी से पहुंच जाएगी।
  • देश में यदि कोई जॉब वेकेंसी खुलती है तो स्टूडेंट्स को डिजीटल इंडिया की मदद से आसानी से जानकारी प्राप्त हो जाएगी।
  • इससे देश में भ्रष्ट्राचार खत्म हो जाएगा, क्योंकि आपको हर प्रकार की जानकारी ऑनलाइन होने के कारण रिश्वत जैसे कार्य कम हो जायेंगे।
  • डिजिटल इंडिया प्रोजेक्ट के माध्यम से देश के कृषि क्षेत्र को कई प्रकार के लाभ मिलेंगे। जैसे किसान मंडियों के भाव जान सकेगें, इंटरनेट से कृषि की जानकारी ले सकेगें।
  • डिजीटल इंडिया के तहत हर व्यक्ति घर बैठे बैठे ऑनलाइन शॉपिंग कर सकता है।
  • डिजीटल इंडिया के तहत हर व्यक्ति घर बैठे बैठे बैंक से मनी ट्रांसफर कर सकता है।

डिजिटल इंडिया प्रोजेक्ट की मुख्य चुनौतिया:

  • भारत सरकार के डिजिटल इंडिया प्रोजेक्ट के सामने कई बड़ी चुनौतियां सामने आई है, जिनमे ये मुख्य है:
  • देश के कई सारे हिस्सों में इन्टरनेट की सुवधा नही है, जो डिजिटल इंडिया के लिये एक बड़ी बाधा बनी है।
  • देश में तकनीकी की कमी।
  • कहीं बच्चे डिजीटल इंडिया के इंटरनेट की आजादी का गलत उपयोग न करें ।
  • देश के कई सारे इलाको में बिजली की असुविधा भी डिजिटल इंडिया की सफलता में एक बड़ी रुकावट है।

Digital India – उपसंहार

1 जुलाई 2015 को शुरू किया गया, यह ग्रामीण लोगों को हाई स्पीड इंटरनेट नेटवर्क से जोड़ने के लिए आवश्यक देशव्यापि कार्यक्रम है। डिजिटल इंडिया का समाज के हर हिस्से के लोगों पर गहरा प्रभाव पड़ा है। इसका समाज की प्रगति और व्यक्तिगत जीवन पर भी गहरा प्रभाव पड़ा है।

यह जरूर पढ़े-

तो ये था Digital India essay in Hindi, आशा करते है ये आपको पसंद जरूर आया होगा, अच्छा लगा हो तो शेयर जरूर करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here