कोरोना वायरस पर निबंध हिंदी में

कोरोना क्या है? इसकी शुरूवात? Essay On Covid 19

आज के इस वक़्त में हमारा देश कोरोना(Corona Virus) महामारी से गुजर रहा है, और हर और हर किसी को इसकी वजह से मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है l

कोरोना वायरस पर निबंध – Coronavirus Par Nibandh

प्रस्तावना

“कोरोना वायरस” यहां एक जानलेवा छुआछूत वायरस है जो की अभी ह्यूमन बॉडी के लिए खतरनाक साबित हुआ है, इसे हम कोविड -19 के नाम से भी जानते है, इसने केवल मानव जाति को नुकसान नहीं पंहुचाया है बल्कि इसने पूरी दुनिया की अर्थव्यवस्या को बर्बाद कर दिया है।

अब तक के इतिहास में यह वायरस सबसे ज्यादा घातक सिद्ध हुआ है, इस वायरस ने WHO (World Health Organization) को भी घुटने टेकने पर मजबूर कर दिया है, वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में संक्रमित हो जाता है, जिसकी वजह से आज पूरी दुनिया में फेल गया है, यहां वायरस अब तक लाखों लोगों की जान ले चुका है।

कोरोना वायरस क्या है?

कोरोना वायरस एक जानलेवा वायरस है जो की एक संक्रमित व्यक्ति से दूसरे स्वस्थ व्यक्ति में फैलता है, इसका दुनिया भर में अभी तक कोई इलाज नहीं है, ये ह्यूमन बॉडी के सीधे हार्ट पर अटैक करता है, ओर शरीर की इम्यूनिटी काफी नुकसान पहुंचाता है, हालाकि अब इससे लड़ने के वैक्सीन तैयार हो चुकी है।

कोरोना की शुरूवात

कोरोना वायरस(Corona Virus) की शुरूवात दिसंबर 2019 के मध्य में चीन के वुहान शहर के एक मिट मार्केट से हुई थी, इस वायरस को WHO (World Health Organization) ने सबसे पहले SARS-Cov-2 नाम दिया था, जिसके बाद इसका नाम बदलकर Covid-19 रखा गया।

क्योंकि ये एक छुआछूत की बीमारी है, एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलने की वजह से आज इस बीमारी ने धीरे धीरे पूरी दुनिया को अपने चपेट में ले लिया हैं, यहां वायरस सीधे मनुष्य के हार्ट पे अटैक करता है, ओर उन्हे छतिग्रस्त कर देता है, जिसकी वजह से मनुष्य को सांस लेने में दिक्कत होती है, ओर दम घुटने की वजह से उसकी मृत्यु हो जाती है।

कोरोना वायरस कैसे फैलता है?

कोरोना वायरस का आकार इतना छोटा होता है की हम अपनी आंखो से इसे नही देख सकते, इसे देखने के लिए माइक्रोस्कोप का प्रयोग किया जाता है, तब जाकर यह वायरस हमें बहुत छोटे आकार में दिखाई देता है।

जब कोई संक्रमित व्यक्ति खासता या फिर छिकता है, या थूकता है, तो ये वायरस हवा में फेल कर सामने वाले व्यक्ति को संक्रमित कर देता है, अगर किसी संक्रमित व्यक्ति ने यदि किसी वस्तु को छुआ है और किसी दूसरे व्यक्ति ने भी उस चीज को छूवा है तो कोरोना आसानी से फेल जाता है।

कोरोना वायरस के लक्षण-

  • इस वायरस के मुख्य लक्षण निम्नलिखित है,
  • सर्दी होना।
  • जुखाम होना।
  • शरीर में कमजोरी महसूस होना।
  • मांसपेशियों में जकड़न।
  • सांस लेने में तकलीफ होना।
  • गले में खराश।
  • शरीर का तापमान हाई रहना।
  • लंबे समय तक शरीर में थकान महसूस होना।

यह कोरोना के मुख्य लक्षण है, यह वायरस ज्यादातर बच्चों और वृद्ध पर जल्दी हावी होता है। अगर किसी व्यक्ति मे ये सब लक्षण दिखाई देते है तो तुरंत नजदीगी डॉक्टर से संपर्क करें। और तुरंत बिना डरे वायरस की जांच करवाए।

कोरोना से बचाव

डबल्यू एच ओ के मुताबिक इस वायरस से बचने के निम्नलिखित उपाय है।

  • मास्क लगाकर ही घर से बाहर निकलना।
  • सामाजिक दूरी का पालन करें।
  • भीड़ – भाड़ वाले इलाके से दूर रहें।
  • जरूरत पड़ने पर ही घर से बाहर निकले।
  • किसी भी चीज को छूने के बाद हाथों से मुंह या आंखों को न छुएं।
  • समय-समय पर हाथों को सैनिटाइज करें या साबुन से धोएं।
  • एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति के बीच में 2 गज की दूरी बनाए रखना।
  • अगर आपको लगता है की आपको वायरस के थोड़े भी लक्षण महसूस होते हैं तो डॉक्टर की सलाह लेकर खुद को घर में 14 दिनों के लिए क्वॉरेंटाइन कर ले।

भारत में कोरोना

भारत में पहली बार कोरोना वायरस का पहला मरीज 30 जनवरी 2020 को केरल मिला था, केरला के रहने वाले वुहान युनिवर्सिटी से लोटा एक स्टूडेंट भारत का पहला कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति था।

लॉकडाउन

कोरोना के प्रकोप से बचने के लिए देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 24 मार्च 2020 को देश में पहली बार 21 दिनों का पूर्णत लॉकडाउन लगाया था, जिसका पूरे देश ने समर्थन किया था।

21 दिनों तक लोगों ने लॉकडाउन का पालन किया, इस निर्णय से पहले 22 मार्च रविवार को प्रधानमंत्री ने एक दिन का जनता कर्फ्यू भी जारी किया था, जिसका लोगो ने बढ़चढ़ कर पालन किया था।

पहला लॉकडाउन 25 मार्च 2020 – 14 अप्रैल 2020 (21 दिन) तक था, लेकिन देश में बढ़ते कोरोना के केसेस को देखते हुए इसे बड़ाकर 15 अप्रैल 2020 – 3 मई 2020 (19 दिन) कर दिया गया, जिसके बाद 4 मई 2020 – 17 मई 2020 (14 दिन), और चौथा चरण 18 मई 2020 – 31 मई 2020 (14 दिन) और जिसके बाद आखरी पाँचवाँ चरण 1 जून 2020 – 30 जून 2020 (30 दिन) के बाद लगभग हर जगह पूर्णतः लॉकडाउन को हटा दिया गया, इस लॉकडाउन का मकसद था की भारत में कोरोना महामारी को रोकना।

इस कोरोना महामारी से बचने के लिए भारत सरकार ने कई महीनो से देश के हर कोनो में लॉकडाउन घोषित कर दिया है, जिसकी वजह से देश को बहुत ज्यादा तादाद में नुकसान हो रहा है, देश में लॉकडाउन की वजह से कोरोना को रोकने में काफी हद तक आसानी हुई है।

लॉकडाउन की वजह से आज हमारा देश कई पीछे चला गया है, इसलिए सरकार भी जल्द से जल्द जिन इलाकों में कोरोना संक्रमित नही है वहां लॉकडाउन खोल रही है।

कोरोना से हुए नुकसान

करना वायरस का प्रभाव है व्यक्ति के जीवन पर हुआ, चाहे वो एक मजदूर हो या फिर एक Businessman, हर व्यक्ति को कोरोना वायरस से काफी नुकसान हुआ है।

कुछ लोगों ने अपनी नौकरी गवाई तो कुछ ने अपने परिवार के सदस्य, कुछ लोगों से उनकी रोजी रोटी छीन गई, तो कुछ लोगों से उनकी उम्मीद, कोरोना वायरस से हुए नुकसान के भरपाई शायद ही कोई कभी कर पाए।

कोरोना वायरस से हमारे देश की GDP को भी बोहोत नुकसान हुआ है, हमारा देश अभी गंभीर Economical Crisis से गुजर रहा है।

कोरोना का पर्यावरण पर प्रभाव

कोरोना वायरस का हमारे पर्यावरण पर बोहोत गहरा प्रभाव हुआ है, कई सालों से जिन नदियों के पानी को हम मेला करते आ रहे थे, उन नदियों का पानी फिर से पहले जैसा स्वच्छ हो गया।

हमारे पर्यावरण में Pollution की मात्रा भी बोहोत काम हो गई, दिल्ली – मुंबई जैसे शहरों में इससे पर्यावरण को बोहोत ज्यादा फायदा हुआ है, इसके साथ साथ कई सारे लोग ने पेड़ लगाने में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया।

वेक्सीन

आज हमारे देश के वैज्ञानिक और पूरे दुनिया भर के वैज्ञानिकों ने कई सारी कोशिशों के बाद इस महामारी से बचाव के लिए वेक्सिन तैयार कर ली है, कई सारे देशों में वहां के लोगों को तो वैक्सीन के दो डोज भी मिल चुके है।

हमारे देश में भी लाखों लोगों को रोजाना वैक्सीन लग रही है, हमें भी बढ़-चढ़कर अपना नंबर आने पर वेक्सिन लगवाने जरूर जाना है। इस महामारी से बचने का यही एकमात्र रास्ता है, अगर पूरी दुनिया से इस महामारी का जड़ से सफाया करना है तो सभी व्यक्ति को ये वेक्सिन लगवाना जरूरी है।

उपसंहार

आज पूरी दुनिया के सभी देशों ने इस कोरोना को काफी हद तक पछाड़ दिया है, वेक्सिन की मदद से फिर से लोग पहले की तरह कहीं पर भी आ जा सकते है, लेकिन कई सारे देश आज भी इस वायरस की चपेट में हैं, रोजाना लाखो लोग मर रहे है।

कोरोना वायरस से डरने की कोई आवश्यकता नहीं है, बस आपको थोड़ी सावधानी रखनी है।

हमे जितना हो सके उतनी सावधानी रखनी है, इस महामारी ने दुनिया के कई सारे घरों को उजाड़ दिया है, इस महामारी से बचने का एक ही इलाज है घर पर रहें, ओर जब भी वेक्सिन लगवाने की बारी आए तब आप जाकर वेक्सिन लगवाएं।

तो ये था कोरोना वायरस पर निबंध – Coronavirus Par Nibandh आशा करते है यह आपको पसंद आया होगा। अच्छा लगा हो तो Share करे।

यह जरूर पढ़े-

Spread the love

Leave a Comment