वैक्सीन की जागरूकता पर निबंध-Corona Vaccine Jagrukta Nibandh

Vaccine Jagrukta Par Nibandh – वैक्सीन की जागरूकता पर निबंध

प्रस्तावना

दुनिया भर में कोरोनावायरस के संक्रमण से बचने के लिए टीकाकरण का अभियान शुरू किया है, जिसमे ब्रिटेन एक मात्र ऐसा देश बना जिसने टीकाकरण की शुरूवात की है, रूस ने अपने देश में ही कोरोना वैक्सीन का निर्माण किया है जिसका नाम उन्होंने स्पूतनिक-5 रखा गया है । इसके साथ ही भारत में भी इस वायरस पर रोक लगाने के लिए दो प्रकार के टीके लगाए जा रहे है, जिसमे एक से एक कोविशील्ड एवं दूसरी कोवैक्सीन है। WHO के अनुसार कोरोना वायरस से छुटकारा पाने का वेक्सिन ही एक मात्र हथियार है।

कोरोना वैक्सीन क्या है ?

कोरोना वैक्सीन शरीर में पहुंचकर शरीर के इम्यूनिटी सिस्टम यानी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बड़ा देता है। यह शरीर में उपस्थित हानिकारक वायरस की पहचान करता है तथा वायरस के खिलाफ लड़ने के लिए शरीर में एंटीबॉडी का निर्माण करता है। दुनिया के अधिकतर देशों ने कोरोनावायरस के प्रकोप से बचने के लिए वैक्सीन निर्माण का कार्य शुरू कर दिया है। फाइज़र द्वारा निर्मित कोविड वैक्सीन महामारी के समक्ष अब तक 95% कारगर साबित हुई है।
कोविड -19 कोरोना वैक्सीन अभियान

भारत में वैक्सीन के अभियान का तीसरा चरण शुरू हो चुका है। इसके पहले चरण की शुरुआत 16 जनवरी 2021 को की गई थी। जिसमें स्वास्थ्य सेवाओं से संबंधित कार्यकर्ताओं का टीकाकरण करने की प्राथमिकता दी गई । इसके पश्चात 1 मार्च 2021 से इस अभियान के दूसरे चरण की शुरुआत की गई। जिसमें 45 वर्ष से अधिक उम्र वाले व्यक्तियों को वैक्सीन लगाने का कार्य आरंभ किया गया।

वर्तमान में कोरोना वैक्सीन के अभियान का तीसरा चरण 1 मई से शुरू हुआ है । जिसमें 18 वर्ष से अधिक उम्र वाले व्यक्तियों को वैक्सीन लगाई जा रही है। भारत में 2 कोविड वैक्सीन का कार्यक्रम आयोजित किया गया है। पहली कोवैक्सीन तथा दूसरी कोविशील्ड है। इस अभियान के दौरान एक ही वैक्सीन की दो डोज लगाई जा रही है। दोनों डोजों के बीच में 5 से 6 हफ्तों का समय निर्धारित किया गया है।

सरकार ने वेक्सिन को हर शहर के हॉस्पिटल, स्कूल, या अन्य सरकारी दफ्तरों में लगवाने की अनुमति दी है, आप किसी भी सरकारी दफ्तरों में जाकर वेक्सिन लगवा सकते है, ओर गांवों में आप पंचायत या आगनवाड़ी में जाकर वेक्सिन लगवा सकते है। कोरोना वैक्सीन के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना आवश्यक है। इसमें रजिस्ट्रेशन कराने वाले लाभार्थी को उसके रजिस्टर मो.नंबर पर एस एम एस के माध्यम से टीकाकरण कराने की निर्धारित तिथि, स्थान व समय के विषय में उचित जानकारी प्रदान की जाएगी।

कोरोना वैक्सीन के प्रति देश में जागरूकता।

अमेरिका के सीडीसी के मुताबिक वैक्सीन बहुत शक्तिशाली होती है। यह बीमारी का इलाज नहीं करती बल्कि उनके प्रभाव को बढ़ने से रोकती है। इसी कारण कोरोनावायरस की इस भयंकर स्थिति में कोरोना वैक्सीन लगवाना अनिवार्य हो गया है। देश में वैक्सीन के प्रति जागरूकता को लेकर सकारात्मक के साथ नकारात्मक विचारों को भी स्थान मिल रहा है वैक्सीन लगवाने के बाद उनमें वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स देखे जा रहे हैं।

जिनमें बुखार और गले की खराश सामान्य लक्षण है। परंतु वैक्सीन के दुष्प्रभाव को रोकने में सहायता हेतु विभिन्न प्रकार के हेल्पलाइन नंबर जनता में जारी कर दिए गए हैं । कोरोनावायरस की वैक्सीन को सरकार द्वारा अभी क़ानूनी रूप में लगवाना अनिवार्य नहीं किया गया है । यह जनता की इच्छा पर आधारित है। परंतु कोरोनावायरस की महामारी से स्वयं को व अपने परिवारजनों को सुरक्षित करने के लिए कोरोना वैक्सीन लगवाना आवश्यक है । कोविड -19 के लिए टीकाकरण भारत में स्वैच्छिक है यह लोगों को इस बीमारी से बचाने का एक सुरक्षित और प्रभावी तरीका है।

कोरोना वायरस वेक्सिन के साइड इफेक्ट्स से कैसे बचे?

कोरोना वायरस की वेक्सिन लगवाने के बाद कई लोगो को तेज बुखार, गले में खराश जैसी समस्या आती है। आप जब वेक्सिन लगवाने जाए तो अपने डॉक्टर की सलाह लेकर जाए, या आप जहां से वेक्सिन लगवा रहे है, आप उनसे भी इसके बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते है,

आप कभी भी कॉविड 19 वेक्सिन को कभी भी खाली पेट न लगवाएं, वेक्सिन लगवाने के तुरंत बाद धूप में न निकले, वेक्सिन लगवाने के बाद ज्यूस जरूर पिए, वेक्सिन लगवाने के बाद 2 से 3 दिन तक जितना हो सके घर पर आराम करें।

आपके लिए –

उपसंहार – वैक्सीन की जागरूकता पर निबंध

कोरोनों जैसी महामारी को अगर हमे हराना है तो हमे साथ मिलकर इसे हराना होगा, इसके लिए सबसे आवश्यक है वेक्सिन की जागरूकता फैलाना लोगो को इसके बारे में जानकारी देना, हमे हमे हमारे देश व हमारे लोगो को अगर बचाना है तो वेक्सिन ही एक मात्र विकल्प है।

तो ये था Vaccine Ki Jagrukta Par Nibandh आशा करते है यह आपको पसंद आया होगा अच्छा लगा हो तो आगे शेयर जरूर करे।

Spread the love

Leave a Comment