9 सबसे महान भारतीय शिक्षक – 9 Best Indian Teachers Of All Times

भारत के सबसे सर्वश्रेष्ठ गुरु – Best Indian Teachers

गुरु का स्थान जीवन में सबसे उपर होता है, गुरु का हर व्यक्ति के जीवन में एक महत्वपूर्ण स्थान होता है।

हर सफल व्यक्ति जो नई – नई बुलंदियां पर पहुंचता है उसके पीछे उसके बेहतर शिक्षक का हाथ होता है।

शिक्षक बिना अपने स्वार्थ के बच्चो को एक बेहतर कल देने के लिए अपनी पूरी ताकत लगा देते है, हर शिक्षक प्रत्येक ‌व्यक्ति को एक बेहतर इंसान बनाता है।

दोस्तों अगर आप जीवन में सफलता प्राप्त करना चाहते हो, तो आप एक गुरु अवश्य कीजिए, आपका गुरु ही आपको बताएगा कि आप कैसे सफलता को प्राप्त कर सकते हो।

और इतिहास के सबसे सफल व्यक्तियों के जीवन में एक गुरु जरूर होते थे, जो उन्हे मार्गदर्शन प्रदान करता थे, जैसे चन्द्रगुप्त के जीवन में आचार्य चाणक्य थे, जिन्होंने एक सामान्य इन्सान को सम्राट बना दिया था।

हमारे देश के कुछ ऐसे शिक्षक(Best Indian Teachers) जो विश्व भर में प्रसिद्ध है।

आज हम आपको ऐसे शिक्षक के बारे में बताने जा रहे है जिन्होंने अपनी शिक्षा से करोड़ों लोगों के जीवन में बदलाव किया है।

9 महान भारतीय शिक्षक – 9 Best Indian Teachers

डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम – Dr APJ Abdul Kalam

डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम को तो हम सब जानते ही है, वे भारत के सबसे सक्सेसफुल वैज्ञानिक मे से एक है, डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम का जन्म 15 अक्टूबर 1931 को तमिलनाडु के छोटे से गांव में हुआ था।

डॉ. कलाम एक महान शिक्षक, एक महान डॉक्टर ओर एक महान वैज्ञानिक ओर एक महान खिलाडी, ओर एक महान राजनेता थे, उन्होंने कभी भी किसी भी मुसीबत से हार नहीं मानी, उनके जीवन में जितनी भी मुसीबत आयी सबको पार कर डॉ. कलाम निरंतर आगे बढ़ते रहे।

डॉ. कलाम शिक्षा के क्षेत्र के लिए हमेशा समर्थक थे, डॉ. कलाम अपनी लगन और निष्ठा से भारत के 11 वें राष्ट्रपति बने।

डॉ. कलाम भारत के सबसे सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘भारत रत्न’ से सम्मानित है। उन्हे 1997 मे भारत रत्न से सम्मानित किया गया था, और 1981 में ‘पद्मभूषण’ और वर्ष 1990 में ‘पद्म विभूषण’ से सम्मानित किया गया था।

स्वामी विवेकानंद – Swami Vivekananda

स्वामी विवेकानन्द जी का जन्म 12 जनवरी 1863 को कलकत्ता में हुआ था।

इनका असल नाम नरेन्द्र नाथ दत्त था।

स्वामी जी ने 1893 अमेरिका के शिकागो शहर में आयोजित विश्व धर्म महासभा में भारत की ओर से सनातन धर्म को प्रस्तुत किया था।

स्वामी जी का उद्देश्य यह था कि प्रत्येक व्यक्ति पड़ लिखकर आगे बड़े, वे हमेशा व्यावहारिक शिक्षा पर ध्यान देते थे।

स्वामी जी चहाते थे कि बालक का शारीरिक, मानसिक विकास हो, जिससे बालक आत्मनिर्भर बने, बालक ओर बालिका सामान शिक्षा के हकदार होने चाहिए।

आज के बच्चों को अपने धर्म के बारे में पता होना चाहिए, देश की प्रगति के लिए नई तकनीकी शिक्षा की व्यवस्था की जानी चाहिए।

गौतम बुद्धा – Gautama Buddha

गौतम बुद्ध का जन्म 563 ईसवी पूर्व मे लुंबिनी नामक जगह पर नेपाल मै हुआ था।

गौतम बुद्ध आज भगवान बुद्ध के नाम से जाने जाते है, भगवान बुद्ध शांति के प्रतीक है।

गौतम बुद्धा ने लोगो को मध्य मार्ग पर चलने का उपदेश दिया है, वे हिंसा के खिलाफ थे, ओर वे पशु बलि के खिलाफ थे, महात्मा बुद्ध सनातन धर्म का प्रोत्साहन करते थे।

वह भारतीय इतिहास में सर्वश्रेष्ठ शिक्षकों में से एक है।

रबीन्द्रनाथ टैगोर – Rabindra Nath Tagore

रबीन्द्रनाथ टैगोर का जन्म 7 मई 1861 को कलकत्ता में हुआ था।

रबीन्द्रनाथ टैगोर एक कवि, साहित्यकार, चित्रकार, संगीतकार ओर एक गुरु है।

रबीन्द्रनाथ टैगोर एशिया के पहले ऐसे व्यक्ति है जिनको नोबेल पुरुस्कार से सम्मानित किया गया था।

रबीन्द्रनाथ टैगोर ने करीब 2230 गीतों की रचना की थी, जिसमे से एक ‘जन गण मन’ भारत का राष्ट्र-गान बना ओर ‘आमार सोनार बाँग्ला’ बाँग्लादेश का राष्ट्रीय गान बना।

रबीन्द्रनाथ टैगोर ने गुरुकुल विश्व भारती विश्वविद्यालय कि स्थपना की जिसे आज विश्व भर में शान्तिनिकेतन के नाम से जानते है।

आचार्य चाणक्य – Chanakya

चाणक्य को ‘कौटिल्य’ के नाम से भी जाना जाता है, चाणक्य चन्द्रगुप्त मौर्य के महामंत्री थे, चाणक्य चतुर, विद्वान व्यक्ति थे।

चाणक्य तक्षशिला विश्वविद्यालय में विद्यार्थियों को शिक्षा प्रदान करते थे, राजनीति विज्ञान और अर्थशास्त्र के आचार्य थे, चाणक्य अर्थशास्त्र, राजनीति, कृषि, समाजनीति के महान रचियता ‌थे।

चाणक्य की कूटनीति, जिसमे किस तरह समस्या को दूर किया जा सकता है, इसे देश विदेश के लोग आज भी अपनाते है।

यह जरूर पढ़े –

सावित्रीबाई फुले – Savitribai Phule

सावित्रीबाई फुले एक लेखक थी और भारत की पहली महिला अध्यापिका थी, ओर वे एक समाज सुधारक, ओर एक मराठी कवित्री थी।

इनका जन्म 3 जनवरी 1831 को महाराष्ट्र में हुआ था।

सावित्रीबाई फुले ने अपने पति के साथ मिलकर पुणे में 1852 को लड़कियों के लिए एक स्कूल कि स्थपना कि थी, जिसमे वे प्रिनिसिपल थी।

सावित्रीबाई बालिकाओं को पढ़ा लिखा कर आगे बढाना चाहती ‌थी।

डॉ. सर्वेपल्ली राधाकृष्णन – Dr Sarvepalli Radhakrishnan

डॉक्टर सर्वपल्ली रधाकृष्णन का जन्म 5 सितम्बर 1888 को चैन्नई शहर से 64 किलोमीटर दूर चित्तूर जिले के तिरुत्तनी ग्राम मे हुआ था।

डॉक्टर सर्वपल्ली रधाकृष्णन मैसूर विश्वविद्यालय के मद्रास प्रेसीडेंसी कॉलेज में प्रोफेसर थे, वे कॉलेज मै दर्शन शास्त्र ओर हिन्दू धर्म का पाठ पढ़ाते थे, उन्होंने मानसिक शिक्षा पर बहुत जोर दिया था।

डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन का नाम उन महान शिक्षकों में आता है जिन्होंने भारत को महान बनाया है।

डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन देश के पहले उपराष्ट्रपति (1952-1962) तक रहे, ओर भारत के दूसरे राष्ट्रपति रह चुके हैं।

डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन के गुणों को देखकर देश ने उन्हें सन् 1954 मे सर्वोच्च सम्मान पुरस्कार भारत रत्न से सम्मानित किया था।

आज डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्मदिन 5 सितम्बर को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है।

आर.के नारायण – R. K. Narayan

आर के नारायण जी का पूरा नाम रासीपुरम कृष्णस्वामी अय्यर नारायणस्वामी था।

इनका जन्म अक्टूबर 10, 1906 मद्रास मे हुआ था, आर के नारायण अंग्रेजी साहित्य के भारत के तीन सबसे बड़े लेखकों मे से एक है।

आर के नारायण ने एक अध्यापक और पत्रकार के रूप में काम किया है, इनके पिता एक अध्यापक थे।

इन्हे पद्म विभूषण से नवाजा जा चुका है, ओर इनके द्वारा रचित एक उपन्यास ‘गाइड’ के लिये इन्हे सन् 1960 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

निसिम इज़ेकील – Nissim Ezekiel

निसीम इजेकिल एक भारतीय कवि, लेखक, ओर नाटककार है, जिनका जन्म 24 दिसंबर 1924 को मुंबई में हुआ था, यह अंग्रेजी भाषा के लेखक थे।

इन्होंने अपने करियर कि शुरूवात अंग्रेजी भाषा से मुंबई यूनिवर्सिटी से प्रोफेसर के रूप में कि थी, इन्होंने अपनी कविताओं के लाखो लोगो को इंस्पायर किया था।

इनके द्वारा लिखी एक कविता संग्रह लैटर–डे साम्स के लिये इन्हें सन् 1983 में अंग्रेज़ी भाषा के साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

इन्हे 2004 मे पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

तो ये थे हमारे देश के सबसे सर्वश्रे्ठ गुरु(Best Indian Teachers Of All Time), जिन्होंने हमारे देश में शिक्षा को एक नई दिशा प्रदान करे।

उम्मीद करते है, ये Post आपको पसंद आया होगा, ओर इस जानकारी आपके अपने के साथ शेयर करना ना भूले।

Spread the love

Leave a Comment